South Railway releases new circularट्रेन्डिंग 

दक्षिण रेलवे ने नया सर्कुलर जारी किया, सिर्फ हिन्दी या अंग्रेज़ी में बात करें अधिकारी

रेलवे में भाषा को लेकर कन्फ्यूज़न की वजह से होने वाला था बड़ा रेल हादसा,

दिल्ली न्यूज़ (Delhi News): पिछले कुछ दिनों में एक बात रेलवे के सामने आई की अलग-अलग भाषाओं में बात करने वाले रेलवे अधिकारियों के बीच कन्फ्यूज़न की वजह से एक बड़ा हादसा होने से बच गया. इस घटना के बाद सावधानी बरतते हुए दक्षिण रेलवे ने सर्कुलर जारी कर अधिकारियों से सिर्फ अंग्रेज़ी या हिन्दी में बात करने का सुझाव दिया है.

क्या है इस सर्कुलर में?

दक्षिण रेलवे के इस सर्कुलर में कहा गया है की अब से स्टेशन मास्टरों को कंट्रोल ऑफिस से सिर्फ अंग्रेज़ी या हिन्दी में बात करनी चाहिए. किसी भी क्षेत्रीय भाषा का इस्तेमाल करने से बचा जाना चाहिए, ताकि किसी भी पक्ष को समझ नहीं आने की स्थिति किसी भी दुर्घटना से बचा जा सके. सर्कुलर के हिसाब से दिए गए सुझाव का पालन मनोनीत अधिकारियों द्वारा सुनिश्चित किया जाएगा. सर्कुलर में कहा गया है कि कंट्रोल ऑफिस तथा स्टेशन मास्टरों के बीच संपर्क को बेहतर बनाना इस सर्कुलर का मुख्य उद्देश्य है.

आपको जानकारी के लिए बता दे की भारत के दक्षिणी हिस्से में प्रमुख रूप से चार भाषाएं-तमिल, तेलुगू, कन्नड़ तथा मलयालम-बोली जाती हैं, और अधिकतर दक्षिण भारतीय जनता इनमें से एक ही भाषा को अच्छी तरह जानती है. दूसरी ओर, विपक्ष दलों ने इस सर्कुलर की आलोचना शुरू कर दी है, क्योंकि दक्षिण भारतीय राज्यों, विशेषकर तमिलनाडु में आमतौर पर हिन्दी का विरोध किया जाता रहा है.

प्रकाशित खबरे

Leave a Comment