Lenders reaching NCLT Court against Jet Airwaysबिज़नेस ट्रेन्डिंग 

जेट एयरवेज के खिलाफ NCLT कोर्ट में पहुंचे कर्जदाता

कर्ज में डूबी हुई एयरलाइन कंपनी जेट एयरवेज को एक और झटका लगा है.

दिल्ली न्यूज़ (Delhi News): जेट एयरवेज की उड़ान सेवाएं लगभग दो महीने से अस्‍थायी तौर पर बंद हुई है इसके बाद जेट एयरवेज की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं. अब शमन वील्स प्राइवेट लिमिटेड और गग्गर एंटरप्राइजेज प्राइवेट लिमिटेड ने कंपनी के खिलाफ NCLT कोर्ट में दिवालिया याचिका दायर की है. यह दोनों कंपनिया अपना पैसा रिकवर करना चाहती हैं अगर कोर्ट ने इन दोनों कंपनियों की याचिका स्वीकार कर लिया तो जेट एयरवेज के लिए मुश्किलें बढ़ सकती है.

दोनों कंपनियों के बारे में

मुंबई की शमन व्हील्स नई और पुरानी पैसेंजर गाड़ियां और लॉरी, ट्रेलर, सेमी-ट्रेलर बेचती है. जबकि अहमदाबाद की गग्गर एंटरप्राइजेज जेट एयरवेज को पैकेज्ड ड्रिंकिंग वॉटर की सप्लाई करती थी.

जेट एयरवेज के हालत के बारे में

जेट एयरवेज के सभी बड़े अधिकारी इस्‍तीफा दे चुके हैं और अब जेट एयरवेज के कर्मचारियों को पगार भी नहीं मिल पा रही है. अब जेट एयरवेज की ऐसी हालत हो गई है की कंपनी नतीजे भी घोषित करने की स्थिति में भी नहीं है. दो महीने से जेट एयरवेज की सभी उड़ान सेवाएं भी बंद हैं. इस वजह से जेट एयरवेज के स्‍लॉट दूसरी एयरलाइन कंपनियों को दे दिया गया है. कंपनी के आर्थिक संकट का फायदा इंडिगो और स्‍पाइसजेट को काफी मिल रहा है.

प्रकाशित खबरे

Leave a Comment