इंजीनियर ने पानी(Water) से चलने वाला ‘इंजन'(Engine) बनाया, जापान सरकार ने की मदद किया.

s.kumarswami

s.kumarswami

तमिलनाडु के कोयंबटूर में एक मैकेनिकल इंजीनियर ने10 साल की मेहनत से एक ऐसे इंजन(Engine) का आविष्कार किया है, जो डिस्टिल्ड वाटर(Water) से चल सकेगा.

तमिलनाडु न्यूज़ (Tamilnadu News ): तमिलनाडु(Tamilnadu) के कोयंबटूर में रहने वाले मैकेनिकल इंजीनीयर एस कुमारस्वामी(S.Kumarswami) ने 10 साल की मेहनत से एक ऐसे इंजन का आविष्कार किया है, जो डिस्टिल्ड वाटर से चल सकेगा. जानकारी के अनुसार यह इंजन एक अलग तरह का है. इको-फ्रेंडली भी है. इंजन इको-फ्रेंडली इसलिए है, क्योंकि यह ऑक्सीजन छोड़ता है और फ्यूल यानी इंधन के तौर पर हाइड्रोजन का इस्तेमाल करता है. मगर इस मैकेनिकल इंजीनीयर को भारत(India) में किसी भी प्रकार की मदद नहीं मिली इसलिए एस कुमारस्वामी को अपने आविष्कार को जापान(Japan) में लॉन्च करना पड़ रहा है.

क्या है पूरा मामला ?

तमिलनाडु के एस कुमारस्वामी (S.Kumarswami)  ने बताया की इस इंजन(Engine) को बनाने में 10 साल लग गए.उन्होंने कहा की यह अपने तरह का दुनिया का पहला इंजन है. और इसे बनाने में मुझे 10 साल लग गए. यह इंधन के रूप में हाईड्रोडन का इस्तेमाल करता है और ऑक्सीजन छोड़ता है.’ इस मैकेनिकल इंजीनीयर एस कुमारस्वामी ने कहा की मेरी इच्छा है की इस इंजन को भारत में इंट्रोड्यूस करूं, इसलिए मैंने सभी प्रशासनिक दरवाजे खटखटाए. मगर मुझे कोई सकारात्मक जवाब नहीं मिला. तब मैंने जापान के सरकार से संपर्क साधा और मुझे वहां यह मदद मिला. अब कुछ दिनों में यह इंजन जापान में लॉन्च किया जाएगा.

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial