Successful launch of missile vehicleटेक्नोलॉजी 

मिसाइल व्हीकल का सफल प्रक्षेपण हुआ

यह तक्नीकी भविष्य में काफी मददगार साबित होगा.

दिल्ली न्यूज़ (Delhi News): भारत अब लगातार अंतरिक्ष और रक्षा क्षेत्र में अपनी सफलता और बुलंदी के झंडे गाड़ रहा है. इसरो ने बुधवार को भी एक नया कीर्तिमान रच दिया है. भारत ने फिर एक बार प्रौद्योगिकी प्रदर्शक मिसाइल व्हीकल का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण कर लिया है. जानकारों के अनुसार इस तक्नीकी का उपयोग भविष्य के मिशन में मिसाइल प्रक्षेपण में अहम भूमिका होगी.

इस मिशन के बारे में

भारतीय रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने भविष्य में कई मिशनों को अंजाम देने वाले एक महत्वपूर्ण टेक्नॉलॉजिकल डिमॉन्सट्रेटर मिसाइल व्हीकल को लॉन्च किया. यह परीक्षण रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) के वरिष्ठ वैज्ञानिकों और सचिव संजय मित्रा की मौजूदगी में किया गया है. आपको जानकारी के लिए  बता दें कि यह मिसाइल अग्नि श्रृंखला से जुड़ी है. भारत सरकार की तरफ से लगातार DRDO और ISRO के क्षेत्र में ताकत बढ़ाई जा रही है. पिछले  दिनों में ऐसे कई इतिहास रचे गए हैं, जिन्होंने अंतरिक्ष की दुनिया में कई कीर्तिमान स्थापित किए हैं. ISRO अब दुनिया की उन अंतरिक्ष संस्थानों में शामिल हो गया है, जो ना सिर्फ अपने देश बल्कि दूसरे देशों के भी मिशनों को कामयाब कर रहा है तो वहीं अगर बात DRDO की करें तो वह भी नई-नई तकनीकों के जरिए विश्व को चौंकाने में लगा है.

अब सरकार ISRO के जैसे ही अब DSRO को बनाने की तैयारी में है. दरअसल, ‘मिशन शक्ति’ यानी वह परीक्षण जिसमें भारत ने अंतरिक्ष में उपग्रह को एसेट रॉकेट से मार गिराया था. इसके बाद भारत को वह ताकत मिली है, जिसके जरिए वह अब अंतरिक्ष में सुरक्षा के लिए अलग एजेंसी बना सकती है. इसी के तहत रक्षा अंतरिक्ष अनुसंधान एजेंसी (DSRO) बनाया जा रहा है.

प्रकाशित खबरे

Leave a Comment