these two political leader haven't done votingराजनीती 

यह दोनों नेताओ ने अपने मताधिकार का सन्मान नहीं किया, आप कहां थे नेताजी?

यह चर्चित और बड़े नेता हैं जो अपने क्षेत्र में लोगों को मतदान करने के लिए कहते रहे और खुद वोट डालना जरूरी नहीं समझा.

मुंबई न्यूज़ (Mumbai News): देश भर में Lok Sabha Election 2019 को एक महापर्व के तौर पर देखा गया. इस लोकतंत्र के महापर्व जिसमें शीर्ष आम और खास सबकी आहुति न सिर्फ जरूरी है, बल्कि यह उसका कर्तव्य भी है. लेकिन इस लोकतंत्र के महापर्व में जब चुनाव के सारथि ही अपने कर्तव्यों से मुंह मोड़ लें तो जनता का भी इस चुनाव प्रक्रिया से विश्वास उठना लाजमी है. आपको जानकारी के लिए बता दे की RJD नेता व Lalu Prasad Yadav के पुत्र Tejashwi Yadav और Congress के वरिष्ठ नेता Digvijaya Singh की इस लोकसभा चुनाव में अपना मतदान (वोटिंग) नहीं किया.

इन दोनो नेताओ और चुनाव के बारे में

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव, बिहार के उपमुख्यमंत्री रह चुके हैं और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह तो साल 1993 से 2003 तक, 10 वर्ष मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके हैं और केंद्र की राजनीति में बड़ा चेहरा माने जाते हैं. 17वीं लोकसभा के लिए दिग्विजय सिंह, भोपाल से कांग्रेस प्रत्याशी हैं. यहां उनका मुकाबला BJP उम्मीदवार Pragya Singh Thakur से है. दिग्विजय सिंह शुरू से दावा करते रहे हैं कि वह अपनी सीट पर आसानी से जीत दर्ज करेंगे, इसके लिए उन्होंने चुनाव प्रचार के दौरान काफी मेहनत भी किया है. इन सब के बावजूद दिग्विजय सिंह ने इस चुनाव में अपना मतदान नहीं किया. दिग्विजय सिंह को वोट डालने के लिए राजगढ़ जाना था, लेकिन वह नहीं गए. जब इस बारे में पूछा गया तो वह बोले की वह वोट डालने नहीं जा सके, इसका उन्हें दुख है. साथ ही उन्होंने कहा कि अगली बार वह भोपाल में नाम दर्ज कराएंगे.

वही दूसरी तरफ तेजस्वी यादव, अपनी पार्टी आरजे़डी के स्टार प्रचारक हैं और राज्य में नेता प्रतिपक्ष हैं. बताया जा रहा है कि चुनाव प्रचार के बाद वह पटना से बाहर चले गए थे, उन्हें सातवें चरण में पटना में मतदान करना था. दिन भर चर्चा रही कि तेजस्वी वोट डालने आ रहे हैं. उनके करीबियों ने ही पहले मीडिया को बताया कि वह सुबह नौ बजे परिवार के साथ मतदान करने जाएंगे, लेकिन वह अंतिम क्षण तक नहीं आए. इसके बाद बहाना बनाया गया कि उनके मतदाता पहचान पत्र में किसी और की तस्वीर लगी है, हालांकि, इसका पता चलते ही बिहार के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एचआर श्रीनिवासन ने साफ कर दिया था कि तेजस्वी अपना वोट डाल सकते हैं साथ ही, उन्होंने तुरंत पहचान पत्र में गड़बड़ी की जांच के आदेश भी दे दिए.

प्रकाशित खबरे

Leave a Comment