DG CRPF emergency meeting with home secretaryराजनीती 

गृहसचिव के साथ DG CRPF की आपातकालीन बैठक

मोदी सरकार अनंतनाग का बदला लेने की तैयारी में

दिल्ली न्यूज़ (delhi news): जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में हुए आतंकी हमले पर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार अब बेहद गंभीर मुद्रा में आ गई है. सरकार ने सीआरपीएफ के डीजी आरआर भटनागर को दिल्ली बुलाया है. गृह मंत्रालय में गृह सचिव राजीव गौबा ने भटनागर के साथ आपातकालीन बैठक की. माना जा रहा है कि अनंतनाग में सेना के 5 जवानों की शहादत का बदला कैसे लिया जाएगा? इस पर दोनों अधिकारियों ने गहन चर्चा और रणनीति बनाई. इसके अलावा मौजूदा हालात की भी समीक्षा की गई. आरआर भटनागर ने गृहसचिव राजीव गौबा को सीआरपीएफ की जवाबी कार्रवाई की जानकारी दी. आरआर भटनागर ने कहा कि मौके पर एक फिदायीन आतंकवादी को मार गिराया गया है. सीआरपीएफ के पास मौजूद मोबाइल और सीसीटीवी फुटेज की जांच में पता चला है कि केवल एक फिदायनी आतंकवादी था. इसके साथ ही भटनागर ने अमरनाथ यात्रा को लेकर सुरक्षा इंतजामों के बारे में भी बताया.

आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों के नाम

रमेश कुमार, एएसआई – झज्जर, हरियाणा,निरोद शर्मा, एएसआई – नालबारी, असम,सतेंद्र कुमार, कॉन्सटेबल – मुजफ्फरनगर, कुमार कुशवाहा, कॉन्सटेबल -गाजीपुर, संदीप यादव, कॉन्सटेबल – देवास.

इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी अल-उमर-मुजाहिद्दीन नाम के आतंकी संगठन ने ली है, इस आतंकवादी संगठन का सरगना  मुश्ताक जरगर है. मुश्ताक जरगर वहीं आतंकी है, जिसे साल 1999 में आईसी-814 के अगवा यात्रियों के बदले छोड़ा गया था. उसके साथ में मसूद अजहर और शेख उमर को भी छोड़ा गया था. 

प्रकाशित खबरे

Leave a Comment