BSP-SP alliance on the brink of collapseराजनीती 

बसपा-सपा गठबंधन टूटने के कगार पर

मायावती की दो टूक-सपा में बदलाव नहीं करते अखिलेश तो अकेले लड़ना बेहतर

लखनऊ न्यूज़ (Lucknow News): लोकसभा चुनाव 2019 में यूपी में सपा-बसपा गठबंधन को मिली करारी हार के बाद अब उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन टूट की कगार पर लगभग आ गया है. इस बात का अंदाजा अखिलेश यादव और मायावती के बयानों से साफ है कि गठबंधन में अब सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है.

मायावती ने गठबंधन को लेकर क्या कहा ?

मायावती ने लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में गठबंधन को मिली करारी हार के बाद प्रेस मीडिया से बात करते हुए कहा की अब लग रहा है की सपा के साथ उनका बेस वोटर खड़ा नहीं रह सका है. सपा का बेस वोट ही छिटक गया है और इसलिए सपा की यादव बाहुल्य सीटों पर भी सपा उम्मीदवार चुनाव हार गए हैं. कन्नौज में डिंपल यादव और फिरोजाबाद में अक्षय यादव का हार जाना हमें बहुत कुछ सोचने पर मजबूर करता है. मायावती ने आगे कहा कि बसपा और सपा का बेस वोट जुड़ने के बाद इन उम्मीदवारों को हारना नहीं चाहिए था. मायावती ने कहा कि हमने पार्टी की समीक्षा बैठक में पाया कि बसपा काडर आधारित पार्टी है और खास मकसद से सपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ा गया था लेकिन हमें सफलता नहीं मिल पाई है. बसपा सुप्रीमो मायावती ने साफ कहा की सपा प्रमुख अपने राजनीतिक कार्यों को करने के साथ-साथ कार्यकर्ताओं और पार्टी को मिशनरी बनाते हैं तो फिर हम आगे साथ लड़ेगे, अगर वह ऐसा नहीं कर पाते तो हमें अकेले ही चुनाव लड़ना होगा. साथ ही मायावती ने यह घोषणा की कि बसपा राज्य में अकेले 11 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव लड़ेगी.

गठबंधन से सपा घाटे में रही

बसपा सुप्रीमो के इस ताज़ा बयान पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव गठबंधन को लेकर चुप्पी साध गए लेकिन आजमगढ़ दौरे पर उन्होंने कहा कि अब वह अगली लड़ाई अपने संसाधन और अपने साधन से लड़ेंगे जिसका जल्द ही खुलासा भी करेंगे. अखिलेश के लिए यह लोकसभा चुनाव इज़्ज़त की लड़ाई बन चुका था. घर में पड़ी दरार के बाद पुराने सियासी दुश्मन से अखिलेश यादव ने दोस्ती की थी फिर भी नतीजा उनके पक्ष में नहीं रहा है. चाचा शिवपाल यादव ने अलग राह पकड़ी जिसका फायदा चुनाव में बीजेपी को जरूर मिला. वहीं दूसरी तरफ पिता मुलायम सिंह यादव भी शुरू से ही इस गठबंधन के पक्ष में नहीं थे. अब ऐसे में मायावती के इस ताज़ा बयान के बाद गठबंधन के भविष्य को लेकर अखिलेश की प्रतिक्रिया का भी इंतजार सभी लोगो को भी है.

प्रकाशित खबरे

Leave a Comment