fbpx
ISRO asked the Indians through the online quiz for Chandrayaan-2 what would they want to take on the moon?देश 

इसरो ने चंद्रयान-2 के लिए ऑनलाइन क्विज के जरिये भारतीयों को पूछा क्या ले जाना चाहेंगे चाँद पर?

इसरो को सभी भारतीयों ने ट्विटर पर जवाब दिया मातृभूमि की मिट्टी और तिरंगा

मुंबई न्यूज़ (Mumbai News): भारत अब चन्द्रमा पर अपने दूसरे चंद्रयान मिशन-2 को लेकर तैयार है. आने वाले 15 जुलाई को भारत (इसरो) का चंद्रयान-2 लॉन्च होगा. इससे पहले इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन (इसरो) ने ऑनलाइन क्विज में ट्विटर पर सभी भारतीयों से एक सवाल पूछा. सवाल यह था की आप चांद पर अपने साथ क्या लेकर जाना चाहेंगे? इस सवाल के जवाब में लगभग सभी भारतीयों ने एक जवाब दिया, वह जवाब था की देश का तिरंगा. कुछ लोगो ने जवाब दिया की भारत का नक्शा, भोजन और ऑक्सीजन के साथ कुछ जरूरी चीजें चांद पर ले जाना चाहेंगे. कुछ ने कहा-बरगद का पेड़ तो कुछ बोले मातृभूमि की मिट्टी और बच्चों के सपने, कुछ यूजर्स ने कहा-हम स्कूप ले जाना चाहेंगे ताकि चांद से पानी वापस ला सकें.

चंद्रयान के विषय में

इसरो का चंद्रयान-1 दस साल पहले लांच लॉन्च हुआ. अब चंद्रयान-2 श्री हरिकोटा (आंध्रप्रदेश) में सतीश धवन स्पेस सेंटर से 15 जुलाई को लॉन्च होगा. जीएसएलवी एमके-थ्री के जरिए चांद के साउथ पोलर रीजन में भी जाएगा. चंद्रयान-2 एडवांस वर्जन है. इसरो ने बताया की यह चंद्रयान-2 एक प्रयास है, जो की अंतरिक्ष की समझ को और बढ़ाने के साथ-साथ वैज्ञानिकों की नई पीढ़ी को प्रोत्साहित करने तथा इसके जरिए हमारी कोशिश अंतरिक्ष मिशन को गहराई से समझने के लिए तैयार की गई. तकनीक को टेस्ट करने का प्रदर्शन भी है. इसरो ने कहा की ऑर्बिटर अपने पेलोड के साथ चांद का पूरा चक्कर लगाएगा. लैंडर चंद्रमा पर उतरेगा और वह रोवर को स्थापित करेगा. ऑर्बिटर और लैंडर मॉड्यूल जुड़े रहेंगे और  रोवर, लैंडर के अंदर रहेगा. रोवर एक चलने वाला उपकरण रहेगा जो चांद की सतह पर प्रयोग भी करेगा. लैंडर और ऑर्बिटर भी प्रयोगों में इस्तेमाल होंगे.

Leave a Comment